शनिवार, 8 मई 2010

माँ


धूप में छाया जैसी ,छाँव में नदिया जैसी
हाथ दुआओं वाले ,रोशन करे उजाले ।



प्रेम की मूरत दया की सूरत
ऐसी और कहाँ है ,जैसी मेरी माँ है ।


तन में जीवन जैसी ,जीवन में बगिया जैसी
जिसके दर्शन में हो भगवन ,ऐसी और कहाँ है

जैसी मेरी माँ है !!!


(नज्म निदा फाजली )

आप सभी को मदर्स डे की शुभकामनाएं!!!

शुक्रिया माँ जीवन को जीवन बनाने के लिए ...हम सबकी ज़िन्दगी अगर सुंदर है तो वो तुम्हारी वजह से है मेरा प्यार मेरा प्रणाम


3 टिप्‍पणियां:

Mithilesh dubey ने कहा…

आपको मातृ दिवस की बहुत-बहुत बधाई ।

अजय कुमार ने कहा…

संसार की समस्त माताओं को नमन

Gourav Agrawal ने कहा…

मदर्स डे के शुभ अवसर पर ...... टाइम मशीन से यात्रा करने के लिए.... इस लिंक पर जाएँ :
http://my2010ideas.blogspot.com/2010/05/blog-post.html